ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान? | yamuna express-ve bas hadsa

 एक डबल डेकर लखनऊ से दिल्ली जा रही रोडवेज बस यमुना एक्सप्रेस-वे से 30 फीट गहरे नाले में जा गिरी। सोमवार सुबह यमुना एक्सप्रेस- वे पर अब तक की सबसे बड़ी और दर्दनाक सड़क दुघर्टना हुई है।इस भीषण हादसे में अब तक बस में सवार एक महिला और बच्चे सहित 29 लोगों की मौत हो गई है। प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि ड्राइवर को झपकी आने से यह दर्दनाक हादसा हुआ है। डीएम एनजी रवि कुमार ने भी इसकी आशंका जताई है। हालांकि अभी इस बारे में आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है और पुलिस फिलहाल हर ऐंगल से मामले की जांच में जुटी है। उधर, सीएम ने सभी पीड़ित परिवारों को 5 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है। इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ ने हादसे की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमिटी का गठन किया है। सीएम ने समिति को 24 घंटे में रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। 
 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान? | yamuna express-ve bas hadsa

 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान? 


मिली जानकारी के अनुसार अवध डिपो की रोडवेज बस रविवार रात 10 बजे आलमबाग रोडवेज बस स्टैंड से सवारियों को लेकर दिल्ली के लिए निकली थी। बस लखनऊ एक्सप्रेस-वे और इनर रिंग रोड होते हुए तड़के लगभग साढ़े चार बजे करीब बस यमुना एक्सप्रेस- वे पर पहुंच गई। बताया जा रहा है कि यहां से दो-तीन किलोमीटर चलते ही चालक को झपकी आ गई। इसके बाद अनियंत्रित होकर बस यमुना एक्सप्रेस- वे की चार फीट ऊंची रेलिंग को तोड़ते हुए 30 फीट गहरे नाले में जा गिरी। 
 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान?

 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान?


बस में 40-45 यात्री थे सवार 

बताया जा रहा है कि बस में लगभग 40 से 45 यात्री सवार थे। हादसे के समय अधिकतर यात्री गहरी नींद में थे। किसी को चीखने का भी मौका नहीं मिला। गांव के ही एक व्यक्ति ने हादसे के समय धमाके जैसी जोर की आवाज सुनी। उसी ने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी। इसके बाद गांव वाले भारी संख्या में वहां पहुंच गए। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। 

गांववालों की मदद से घायलों को निकाला बाहर 

उधर, बस नाले में गिरकर उल्टी हो गई थी और सभी सवारियां उसमें फंसी हुई थीं। मौके पर पहुंची पुलिस ने गांववालों की मदद से घायलों को बाहर निकाला और उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे के करीब दो घंटे बाद जेसीबी और क्रेन मौके पर पहुंची। इसके बस को सीधा कर उसमें फंसे अन्य लोगों को निकाला गया, जिसमें ज्यादातर की मौत हो चुकी थी। मृतकों की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। सभी शवों को पोस्टमॉर्टम हाउस भिजवा दिया गया है। 

डीएम ने कहा, शायद ड्राइवर को आई थी झपकी 

आगरा के डीएम एनजी रवि कुमार ने बताया है इस हादसे में एक बच्ची और 15 साल की बालिका सहित 29 लोगों की मौत की पुष्टि की है। डीएम ने बताया कि 18 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच में ऐसा लग रहा है कि बस की स्पीड तेज थी और ड्राइवर को झपकी आ गई थी। डीएम ने कहा कि फिलहाल मौके पर सर्च ऑपरेशन जारी है। 

 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान?

 ड्राइवर की एक झपकी से गयी 29 लोगों की जान?



घायलों को बेहतर इलाज व्यवस्था का निर्देश 

उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को तुरंत मौके पर पहुंचने का निर्देश दिया है। साथ ही एसपी और डीएम को भी मौके पर पहुंचकर घायलों को जल्द इलाज दिलाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा सीएम ने मृतकों के परिवारवालों को पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की भी घोषणा की है। 



Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News