बाल अधिकारों के उल्लघन संबंधी प्रकरणों निराकरण हेतु गोहपारू में शिविर सम्पन्न sivir sampann Aaj Tak 24 News

 


बाल अधिकारों के उल्लघन संबंधी प्रकरणों निराकरण हेतु गोहपारू में शिविर सम्पन्न sivir sampann Aaj Tak 24 News 

शहडोल - राष्ट्रीय बाल  अधिकार संरक्षण की सदस्य सुश्री प्रीति भाराद्वाज दलाल  एवं मध्यप्रदेश  बाल अधिकार  सरंक्षण आयेाग की सदस्य मेघा पवार की उपस्थिति में तथा बाल कल्याण समिति शहडोल के पदाधिकारियों की उपस्थिति में आज जिले के जनपद पंचायत गोहपारू स्थित आईटीआई  भवन में राष्ट्रीय बाल  अधिकार संरक्षण आयोग की खंडपीठ द्वारा बाल अधिकारों के उल्लघंन से संबंधित प्रकरणों के निराकरण हेतु वृहद शिविर का आयोजन किया गया , जिसमें  पंचायत एवं  सामाजिक न्याय के 50 लोगो का दिव्यांगता, मेडिकल प्रमाण-पत्र एवं पेंशन का लाभ महिला बाल विकास की  विभिन्न योजनान्तर्गत 180 बालक-बालिकाओं को लाभान्वित कराने के साथ शिक्षा विभाग, पिछड़ा वर्ग विभाग सहित अन्य विभागों के लगभग 15 प्रकरण स्वीकृत कराए गए। इस मौके पर राष्ट्रीय बाल  अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य सुश्री प्रीति भाराद्वाज दलाल द्वारा  शिविर में  उपस्थित विभिन्न विभागीय अधिकारियों को समझाइश दी कि वे  अपने-अपने विभागों से संबंधित बाल अधिकारों  के नियमों  एवं हितलाभों  से बालक-बालिकाओं को लाभान्वित कराना सुनिश्चित कराएं जिससे उनका पोषण और पुर्नवास  संभव हो सकें।  उन्होंने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा करना मानव का परम धर्म है वहीं  केन्द्र एवं प्रदेश शासन की मंशा भी है कि शोधित एवं पीडित व्यक्तियों को लाभान्वित कराकर उन्हें मुख्य धारा में लाया जाए। उन्होंने कहा कि  हमारे देश में असहाय, निर्बल और पीड़ित जनों की सेवा करना उनकी मदद कर उन्हें आगे बढाने में सहयोग करने की  पौराणिक परंपराएं रही है जिन्हें आगे बढाने में सभी अधिकारी, कर्मचारी  जनप्रतिनिधि, समाजसेवी एवं मीडिया के लोग आगे आएं जिससे  इस परंपरा को जीवंतः  प्रदान की जा सकें।  इस मौके पर उन्होंने  महिला बाल विकास के  क्षेत्रीय अमलों से  रूबरू होकर  उन्हें  ग्रामीण स्तर पर  कार्य करने में होने वाली कठिनाईयों एवं योजनाओं को पर्णित करने के संबंध में  जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि शहडोल जिला  आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है, यहां के लोग  अभी  उतने विकसित एवं जागरूक नही है, इसलिए शासन के विभिन्न विभागों के  क्षेत्रीय अमले अपने शासकीय दायित्वों के निर्वहन के साथ-साथ  आम लोंगो को जागरूक भी करें तथा उन्हें विभागीय योजनाओं की जानकारी देकर  उनका लाभ दिलाने में मानवीय मदद भी करना सुनिश्चित करें। शिविर में विधायक जयसिंहनगर श्री जयसिंह मरावी, कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य, अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री मुकेश वैश्य, उपाध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती फूलवती सिंह,  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ आरएस पाण्डेय, उप पुलिस अधीक्षक सुश्री अंकिता सुल्या, उप संचालक सामाजिक न्याय श्री षिवेन्द्र सिंह परिहार, जिला शिक्षा अधिकारी श्री पीएस मरपाचाी, समन्वयक सर्व षिक्षा अभियान श्री ए.एन सिंह,सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री आनंद राय सिन्हा, जिला बाल कल्याण समिति शहडोल के अध्यक्ष श्री प्रदीप सिंह, सदस्य  श्रीमती  भारती शुक्ला, श्री शीतल पोददार, श्री अभिषेक श्रीवास्तव, श्री संतोष मिश्रा सहित  अन्य विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी एवं काफी संख्या में हितग्राही एवं बालक-बालिकाएं उपस्थित थें। अशोक सिंह को शिविर में दिलाई गई  ट्राईसाइकिलः- राष्ट्रीय बाल  अधिकार संरक्षण आयोग की खंडपीठ द्वारा  आयोजित  बाल अधिकारों के  उल्लघन से संबंधित प्रकरणों के निराकरण हेतु गोहपारू के आयेाजित शिविर में पहुंचे दिव्यांग  अशोक सिंह निवासी ग्राम बदरा जो कि कक्षा10 में पढाई कर रहे है उनकी विगत दिनांे में दुर्घटना में  दिव्यांगता के कारण  चलने फिरने में एवं स्कूल जाने में परेशानी की समस्या समक्ष में उपस्थित होकर बताई गई। अशोक सिंह की समस्या देखकर सुश्री प्रीति भारद्वाज दलाल ने  अशोक को सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारी केा बुलाकर उन्हें शिविर स्थल पर ही ट्राईसाइकिल उपलब्ध करवाई तथा अषोक सिंह से विस्तार से चर्चा कर उनकी पढाई के बारे पूछतांछ की एवं उन्हें  आगे पढने की  समझाइश भी दी। उन्होंने अशोक सिंह का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि अच्छे मन से पढाई कर दक्षता हासिल करंे जिससे उनका भविष्य  सुधर सकें और वे स्वावलंबी बन सके।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News

सरपंचों के आन्दोलन के बीच मंत्री प्रहलाद पटेल की बड़ी घोषणा, हर पंचायत में होगा सामुदायिक और पंचायत भवन bhawan Aajtak24 News