एक मजबूर मां अपनी बेटी की जिंदगी बचाने के लिए शासन - प्रशासन से लगा रही फरियाद | Ek majbur maa apni beti ki zindagi bachane ke liye shashan prashasan se laga rhi fariyad

एक मजबूर मां अपनी बेटी की जिंदगी बचाने के लिए शासन - प्रशासन से लगा रही फरियाद

एक मजबूर मां अपनी बेटी की जिंदगी बचाने के लिए शासन - प्रशासन से लगा रही फरियाद

बालाघाट (देवेंद्र खरे) - बालाघाट की 01 माँ अपना हर कुछ दाव पर लगाकर गंभीर बीमारी से पीड़ित बेटी को बचाने का हरसंभव कर रही कोशिश ।

अब मेरी बच्ची को बचाने के लिए आंसू और फरियाद के सिवा कुछ नहीं बचा मेरे पास- राखी चौकसे।

आपको बता दें कि जिंदगी में पैसा सब कुछ नहीं कहने वालों के लिए यह एक सबब है । की 

 पैसे की कमी के कारण जिंदगी और मौत के बीच झूल रही बालाघाट की 9 माह की मासूम बच्ची हिती चौकसे।

आइए आपको बताते हैं पूरा मामला -

किसी भी परिवार में मासूम बच्चे के आने की खुशी में जैसी खुशी हर एक परिवार को होती है।

ऐसी ही खुशी भरवेली में रहने वाले संजय चौकसे के परिवार में भी दिनांक 24 नवंबर 2021 को दिखी जब उन्हें लक्ष्मी के रूप में दूसरी पुत्री हिती की प्राप्ति हुई।

लगभग 2 माह बीतने के बाद  उसका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा 

जिसे ठीक कराने के लिए चौकसे परिवार हर बड़े हॉस्पिटलों के चक्कर लगा रहे था।

बच्ची को बेहतर इलाज दिलाने के लिए चौकसे परिवार के द्वारा बच्ची को एम्स हॉस्पिटल रायपुर छत्तीसगढ़ ले जाया गया।

जहां पर विशेषज्ञ चिकित्सकों के द्वारा बच्ची हिती को  BILIARY ATRESIA जैसी गंभीर बीमारी से ग्रसित बताया गया। 

विशेषज्ञ चिकित्सकों के द्वारा जल्द लिवर ट्रांसप्लांट करने कहा गया है। जिस के ऑपरेशन के लिए लगभग ₹30,0000/- (तीस लाख)  का एस्टीमेट बना कर दिया गया है।

9 माह की हिती को गरीब परिवार के द्वारा अब तक अपना सब कुछ बेच कर लगभग 7 से 8 लाख रुपये लगा चुके हैं।

अब परिवार के पास आंसू और फरियाद के सिवा कुछ नहीं बचा है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर के द्वारा यह कहना कि यदि जल्द ऑपरेशन नहीं किया गया तो बच्ची आपके पास ज्यादा दिन नहीं रह पाएगी। और अब बच्ची की हालत दिन-ब-दिन गंभीर होते जा रही हैं। जिसे देखते हुए हिती का परिवार शासन - प्रशासन और दानदाताओं से गुहार लगा रहा हैं कि मेरी बच्ची की जान बचा लीजिए। आपको बता दें कि इसी बीमारी से पीड़ित  छत्तीसगढ़ सरकार ने एक मासूम बच्ची का 15 दिवस पूर्व एक ऑपरेशन करवाया है। जो ऑपरेशन सफल रहा है।

देखना यह है की

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के विज्ञापन के लिए  करोड़ों  खर्च करने वाली सरकार

क्या इस बच्ची की जान बचा पायेगी

*80 लाख से अधिक विजिटर्स के साथ बनी सर्वाधिक लोकप्रिय*

*आपके जिले व ग्राम में दैनिक आजतक 24 की एजेंसी के लिए सम्पर्क करे - 8827404755*

Comments

Popular posts from this blog

कलेक्टर दीपक सक्सेना का नवाचार जो किताबें मेले में उपलब्ध वही चलेगी स्कूलों में me Aajtak24 News

पुलिस ने 48 घंटे में पन्ना होटल संचालक के बेटे की हत्या करने वाले आरोपियों को किया गिरफ्तार girafatar Aaj Tak 24 News

कुल देवी देवताओं के प्रताप से होती है गांव की समृद्धि smradhi Aajtak24 News