हिंदी भाषा मे भी है रोजगार की असीमित सम्भावनाए | Hindi bhasha main bhi hai rojgar ki asimit sambhavnaye

हिंदी भाषा मे भी है रोजगार की असीमित सम्भावनाए 

हिंदी भाषा मे भी है रोजगार की असीमित सम्भावनाए

बड़वानी - हिंदी हमारी राजभाषा है। हिंदी के द्वारा हम शिक्षा, राजनीति, इतिहास, विज्ञान ,वाणिज्य आदि सभी क्षेत्रों में रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।यदि विद्यार्थी नवीन साहित्य का सृजन करेंगे तो हिंदी भाषा न केवल सुदृढ़ होगी, अपितु उसका साहित्य भी समृद्ध और प्रभावशाली होगा। उक्त बातें नेहरू युवा केंद्र द्वारा आयोजित राज भाषा संगोष्ठी में मुख्य अतिथि शासकीय महाविद्यालय पाटी के प्राचार्य डॉ. परवेज मुशर्रफ ने 14 से 28 सितम्बर तक चलने वाले हिंदी दिवस पखवाड़ा के प्रारंभ अवसर पर उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए कही । इस दौरान विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी राजश्री पंवार, डॉ. मंशाराम बघेल सहायक अध्यापक, एवं पवन गोयल उच्च श्रेणी शिक्षक ने भी छात्रों को सम्बोधित किया। नेहरू युवा केन्द्र के सावन चैहान ने बताया कि 14 से 28 सितम्बर तक आयोजित हिंदी दिवसध्पखवाड़े अंतर्गत सामुहिक गान प्रतियोगिता, सामुहिक चर्चा, हिंदी निबंध, लेखन प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता, हिन्द नारा लेखन प्रतियोगिता सहित अन्य कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। इस दौरान महाविद्यालय एव मॉडल स्कूल शिक्षक सहित समस्त स्टाफ उपस्थित था

Post a Comment

0 Comments