देशभर के सिर्वी समाज श्रीआई माताजी का अवतरण दिवस भादवी बीज के रूप में मनाएंगे | Desh ke sirvi samaj shri aai mataji ka avtaran divas

देशभर के सिर्वी समाज श्रीआई माताजी का अवतरण दिवस भादवी बीज के रूप में मनाएंगे

देशभर के सिर्वी समाज श्रीआई माताजी का अवतरण दिवस भादवी बीज के रूप में मनाएंगे

मनावर (पवन प्रजापत) - देशभर में आईपथ सिर्वी समाज की आराध्य देवी श्रीआई माता जी का 607 वा अवतरण दिवस (भादवी बीज) उत्सव अखिल भारतीय सिर्वी समाज द्वारा बुधवार को शासन की कोरोना गाइड लाइन के चलते सादगी पूर्वक मनाया जाएगा।

        उक्त जानकारी देते हुए अखिल भारतीय सिर्वी महासभा मप्र के प्रांतिय अध्यक्ष कैलाश मुकाती व नगर अध्यक्ष मोतीलाल पंवार मनावर ने बताया कि विक्रम संवत 1472 को भादवा सुदी शुक्ल पक्ष बीज को गुजरात के अम्बापुर में भीकाजी डाबी के आगन में श्रीआई माता जी कन्या के रूप में प्रकट हुई थी, जिनका नाम जीजी रखा गया। 1561 में चेत शुक्ल बीज के दिन श्रीआई माताजी अखंड ज्योत में विलिन हो गई थी। देशभर के वडेरों (मंदिर) में आज भी अखंड ज्योत दीपक की लौ में केशर के रूप में दर्शन देती है। देशभर में फैले सिर्वी समाज बंधुओं के साथ मप्र के 8 जिलों की 17 तहसीलों के 256 गांवो में निवासरत समाज बंधु श्रीआई माताजी का अवतरण दिवस मनायेंगे।

Post a Comment

0 Comments