भारी भरकम बिजली और अधिकारी की अभद्रता को लेकर कांग्रेस का धरना प्रर्दशन | Bhari bharkam bijli or adhikari ki abhdrata ko lekar congress ka dharna pradarshan

भारी भरकम बिजली और अधिकारी की अभद्रता को लेकर कांग्रेस का धरना प्रर्दशन

भारी भरकम बिजली और अधिकारी की अभद्रता को लेकर कांग्रेस का धरना प्रर्दशन

धरमपुरी (गौतम केवट) - धरमपुरी प्रदेश कांग्रेस कमेंटी के आव्हन पर स्थानीय ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी के तत्वाधान में क्षैत्रिय विधायक और ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में स्थानीय विद्युत वितरण कम्पनी कार्यालय पर धरना दिया। जिसमें परेशान बिजली उपभोक्ता बड़ी संख्या में धरने में शामिल हुऐ। राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन, सहायक यंत्री को सौपा। 

गुरूवार को दोपहर 12 बजे से दोपहर 3 बजे तक विद्युत वितरण कम्पनी कार्यालय परिसर में कांग्रेस पार्टी द्वारा धरना दिया गया। धरने के दौरान ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शब्बीर पहलवान, क्षैत्रिय विधायक पांचीलाल मेड़ा, कांग्रेसी नेता संजय सोनी, जावेद साला, डाॅ. अजहर खाॅन, वरिष्ठ नेता अजीज मौलाना, सुदामा सेन, प्रोफेसर लोकेन्द्रसिंह तोमर आदि ने उपस्थितियों को संबोधित करते हुऐ उपभोक्ताओं को उनके अधिकार और बिजली बिल संबंधित जरूरी जानकारी दी। ज्ञापन का वाचन संजय सोनी ने किया। धरने के दौरान कांग्रेसी नेता महादेव कर्मा, अशोक यादव, करण भाई, देवेन्द्र भाई, धरराज भाई धनगर, रामेश्वर भाई निम्बोला, रामु मुकाती, नरेन्द्र दरबार, धरमपुरी से आशिक जमींदार, नाना सेन, बाबु खाॅन, विक्रम वर्मा, अमीन जमींदार, सल्लु नेता, राजा काका खुजावा, शाहबाज नेता, गफ्फार खाॅन, मोहसीन खेराती, इरफान मलिक, जाहिद मंसूरी, आवेश खाॅन, अकबर जिराती, इमरान अली आदि शामिल थे।  

यह कहां ज्ञापन में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने बिजली को लुट का साधन बना लिया है। उपभोक्ताओं को बिना रिडिंग बिल थमाये जा रहे है। पिड़ित उपभोक्ता कार्यालय पर जाकर गुहार लगाता है तो अधिकारी अभद्रतापूर्वक पेश आते है। नवीन पुनर्वास स्थलों की स्ट्रीट लाईट गुमराह कर बंद करवा दी गई। स्थानीय विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा मनमाने ढंग से बेसमय बिना नागरिको एवं नगर परिषद को सूचना दिये बिना ही दिन में कई बार विद्युत बंद कर दी जाती है जिससे नगर में आम उपभोक्ता परेशान है वही नगर परिषद की पेयजल व्यवस्थाऐं ठप हो जाती है। नगर में परमिट के नाम पर बेसमय सम्पूर्ण नगर की विद्युत सप्लाय बंद कर दी जाती है जबकि नगर में लगी ट्रासफार्मर एवं विद्युत पोल से कनेक्षन की जानकारी विद्युत विभाग को होती है नियमानुसार संबंधित ट्रासफार्मर को बंद कर सुधार कार्य किया जाना चाहिए जिसका पालन नगर में नहीं किया जा रहा है जिसके कारण पेयजल और नगर के नागरिको को रोजाना परेशानियों का सामना करना पड़ता है। विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा नगर के आम उपभोक्ताओं को विद्युत विभाग की समय-समय पर आने वाली योजनाओं की जानकारी नहीं दी जाती है जिससे उपभोक्ताओं को शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है।

Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News