बासुरी की धुन और लोकनृत्य टोली के साथ थिरकते हुवे पहुँचे कांग्रेसी नेता पटेल | Basuri ki dhun or lok nrity toli ke sath thirakte hue pahuche congressi neta patel

बासुरी की धुन और लोकनृत्य टोली के साथ थिरकते हुवे पहुँचे कांग्रेसी नेता पटेल

पटेल ने आदिवासी दिवस के मुख्य कार्यक्रम मे भाग लिया

बासुरी की धुन और लोकनृत्य टोली के साथ थिरकते हुवे पहुँचे कांग्रेसी नेता पटेल

आलीराजपुर (रफीक क़ुरैशी) - 09 अगस्त को देश -विदेश मे आदिवासी दिवस हर्षल्लास के साथ मनाया जा रहा है | सोमवार को आदिवासी बाहुल्य इस जिले मे भी आदिवासी दिवस उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया | आदिवासी दिवस पर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष महेष पटेल ने आदिवासी समाजजनो को पर्व की षुभकामनाए दी। इस दौरान श्री पटेल ने स्थानिय टंटया मामा चैराहे पर महान आदिवासी नायक टंटया मामा के स्मारक पर श्रद्धासुमन एवं माल्र्यापण किए। वहि पटेल ने सोमवार दोपहर को आदिवासी समाज के मुख्य आयोजन ग्राम आम्बुआ मे आदिवासी लोक न्रत्य दल एवं कांग्रेसी नेताओ के साथ षिरकत की।

बासुरी की धुन और लोकनृत्य टोली के साथ थिरकते हुवे पहुँचे कांग्रेसी नेता पटेल

*समाजजनो को एकजुट होने की जरूरत*

इस दौरान पटेल एवं समाजजन बासुरी की मधुर धुन पर थिरकते हुए मुख्य कार्यक्रम मे पहुंचे। ग्राम आम्बुआ के मुख्य कार्यक्रम मे समाजजनो द्धारा पटेल का सम्मान किया गया। सामाजिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पटेल ने सबसे पहले आयोजन के लिए विभिन्न संगठनो के पदाधिकारियों एवं समाजजनों को धन्यवाद दिया। उन्होने कहा कि इस तरह के आयोजन से आपसी सामाजिक समरसता बढती है और समय-समय पर इस तरह के आयोजन होते रहना चाहिए। पटेल ने कहा कि आज आदिवासी समाज को एकजुट होने की जरुरत है। इन दिनो भाजपा के राज मे आदिवासी समाज के लोगो पर अत्याचार बढ गया है, प्रदेष के कई जिलो मे आदिवासी जुल्म एवं हत्या के षिकार हो रहे है। समाजजनो पर अत्याचार, झुठे  प्रकरणो मे फंसाने की साजिष रची जा रही है। पटेल ने कहा कि आज विष्व भर मे मनाए जाने वाले आदिवासी दिवस हर्षोल्लास का पर्व है, लेकिन भाजपा सरकार ने प्रदेषभर मे समाज के लोगो को आदिवासी दिवस नही मनाने को लेकर धारा 144 लागु कर दी। वहि अधिकारी-कर्मचारियो अवकाष नही देकर अन्य कार्यो मे तेनाती कर दी, जिसका आदिवासी समाज पुरजारे विरोध करता है। सालभर मे एक बार हमारा आदिवासी दिवस पर्व आता है उस पर भी भाजपा सरकार ने बंदिष लगा दी। श्री पटेल ने षासन-प्रषासन को चेतावनी देते हुए कहा कि आदिवासी समाज अपना हक ओर अधिकार लेना जानता है और समाज के लोग झुठे प्रकरणो एवं जेल जाने से नही डरते है।

Post a Comment

0 Comments