जिला चिकित्सालय भिंड में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया | Jila chikitsalay bhind main vishv jansankhya divas manaya

जिला चिकित्सालय भिंड में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया

जिला चिकित्सालय भिंड में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया

भिंड (मधुर कटारे) - आज जिला चिकित्सालय भिंड में विश्व जनसंख्या दिवस के उपलक्ष में परिवार नियोजन जानकारी संबंधित कार्यशाला आयोजित की गई,  जिसमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजीत मिश्रा ,सिविल सर्जन डॉ अनिल गोयल , आरएमओ डॉ आर एन राजोरिया ,स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ बबीता विमल एवं समाजसेवी नितेश जैन द्वारा समाज में परिवार नियोजन के महत्व एवं परिवार नियोजन के स्थाई तथा अस्थाई साधनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई ।_

जिला चिकित्सालय भिंड में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया

*आपदा में भी परिवार नियोजन की जिम्मेदारी के बारे में बताया*

_सीएमएचओ डॉ अजीत मिश्रा द्वारा बताया गया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 11 जुलाई से 11 अगस्त तक जनसंख्या स्थिरता माह मनाया जावेगा जिसकी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है ,_

*आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी,*

*सक्षम राष्ट्र एवं परिवार की पूरी जिम्मेदारी*

_इस वर्ष जिले की समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं पर उपरोक्त नारे के साथ परिवार कल्याण कार्यक्रम को गति प्रदान करने एवं जनसंख्या स्थिरता माह को सफल बनाने का आह्वान किया ।_

*बर्थ कंट्रोल के तरीकों के बारे में समझाया:*

_सिविल सर्जन डॉक्टर अनिल गोयल ने बढ़ती जनसंख्या के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए उन्हें बर्थ कंट्रोल के तरीकों के बारे में विस्तार से समझाया . आंचलिक इलाकों में आज भी लोग इस मामले में खुलकर चर्चा करने में हिचकिचाते हैं और बर्थ कंट्रोल के तरीके के बारे में नहीं पता होता है. ऐसे में उन्हें पर्सनल हाइजीन, कॉन्डम और गर्भनिरोधक गोलियों के बारे में जानकारी देने हेतु जिला अस्पताल में फीमेल ओपीडी में फैमिली प्लानिंग कॉर्नर के नाम से एक काउंसलिंग सेंटर बनाया गया है जिसमें फैमिली प्लानिंग काउंसलर कुंती शर्मा आने वाले समस्त मरीज एवं हितग्राहियों को इस बारे मैं काउंसलिंग करती हैं।_

*फैमिली प्‍लानिंग के बारे में बताएगें:*

_कार्यक्रम में मौजूद समाज सेविका नितेश जैन ने कहा के कई जगहों पर आज भी फैमिली प्‍लानिंग जैसी कोई चीज नहीं है. ऐसे में लोगों को फैमिली प्‍लानिंग का महत्व समझायेंगे, उन्हें बताएंगे कि छोटा परिवार ही सुखी परिवार है. अगर परिवार छोटे होंगे तो सभी को आगे बढ़ने के उचित अवसर, शिक्षा, दीक्षा और खान-पान मिल सकेंगे. नहीं तो परिवार में कई मुश्किलें आ सकती हैं._

*बढती जनसंख्या के दुष्प्रभाव एवं परिवार नियोजन के साधनों की उपयोगिता बताई*

_स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ बबीता विमल ने बताया की आज 11 जुलाई, रविवार को दुनिया भर में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जा रहा है. इसका उद्देश्‍य दुनियाभर में बढ़ती आबादी से जुड़ी समस्‍याओं के प्रति लोगों को जागरुक करना है. हमारे देश के लिए भी बढ़ती आबादी कई समस्‍याओं का कारण बनती जा रही है. इसकी वजह बर्थ कंट्रोल से जुड़ी जानकारियों का अभाव भी माना जाता है. उन्होंने बढ़ती जनसंख्या से पैदा होने वाले संकट के प्रति लोगों कैसे जागरुक किया जा सकता है एवं परिवार नियोजन के साधनों के उपयोग के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी।_

_कार्यक्रम में अस्पताल स्टाफ, चिकित्सक ,समाजसेवी एवं अन्य हितग्राही उपस्थित रहे ।_

Post a Comment

0 Comments