आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत ग्रामीण छात्र, छात्राओं को वैदिक गणित एवं विज्ञान के बारे में समझाया गया | Atmanirbhar bharat ke antargat gramin chhatr chatrao ko vaidik ganit evam vigyan ke bare main smjhaya

आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत ग्रामीण छात्र, छात्राओं को वैदिक गणित एवं विज्ञान के बारे में समझाया गया

आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत ग्रामीण छात्र, छात्राओं को वैदिक गणित एवं विज्ञान के बारे में समझाया गया

बुरहानपुर (अमर दिवाने) - शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिरोदा मे आत्म निर्भर भारतके अंतर्गत जीजामाता शासकीय पालिटेक्निक महाविद्यालय के विज्ञान और गणित शिक्षक द्वारा  कक्षा 10 एवं कक्षा 12 के छात्र छात्राओं का कैरियर काउंसलिंग के साथ साथ वैदिक गणित के बारे में जानकारी किशोर सिलवानी एवं दिपक शाह द्वारा दि गई।

आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत ग्रामीण छात्र, छात्राओं को वैदिक गणित एवं विज्ञान के बारे में समझाया गया

संस्था के प्राचार्य सुनिल कोटवे ने कहा कि वैदिक गणित में 16 सूत्र एवं 22 उपसूत्र है जो आज भी देश और दुनिया में काफी प्रासंगिक है। आज पुरे विश्व में किसी भी तरह का विज्ञान हो उसमें वैदिक गणित के सूत्रों का प्रयोग होता है। यही नहीं अंतरिक्ष विज्ञान में इसका उपयोग होता है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि कंप्यूटर भी वैदिक गणित पर आधारित है।

इस अवसर पर छात्र/छात्राओं सहित शिक्षक एवं शिक्षिकाए उपस्थित थी।

Post a Comment

0 Comments