रतलाम के ईसरथूनी क्षेत्र की महिला ने की आत्महत्या | Ratlam ke isarthuni shetr ki mahila ne ki atmahatya

रतलाम के ईसरथूनी क्षेत्र की महिला ने की आत्महत्या

मौत का कारण बनी महिलाएं घर से फरार, तलाश जारी

रतलाम-झाबुआ(संदीप बरबेटा):- रतलाम जिले के ग्राम ईसरथूनी में महिला की मौत के मामले में आरोपित तीनों महिलाओं की दो दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस उनकी तलाश में उनके घरों पर गई थी, लेकिन वे नहीं मिली। पुलिस के अनुसार वे घर छोड़कर भाग गई है। उनकी तलाश की जा रही है। गौरतलब है कि 3 अक्टूबर 2020 को 36 वर्षीय रंभाबाई पत्नी कारूलाल भाभर निवासी ग्राम ईसरथूनी ने अपने घर पर जहर पी लिया था। उसे स्वजन ने एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां रात में उसने दम तोड़ दिया था। स्वजन ने पुलिस को बताया था कि रंभाबाई को उनके घर के सामने रहने वाली तीन महिलाओं ने मारपीट कर धमकाया था। पुलिस ने दूसरे जिला अस्पताल में रंभाबाई के शव का पोस्टमार्टम कराया था। तभी से औद्योगिक क्षेत्र पुलिस मामले की जांच कर रही थी।

पुलिस ने उसके स्वजन व अन्य लोगों के बयान लिए और जांच में पाया कि रंभाबाई का जहर पीने के पहले घर के सामने रहने वाली आरोपित सुनीता पत्नी भरत डामर से सरकारी कुएं में कचरा फेंकने की बात को विवाद हुआ था। सुनीता को कचरा फेंकने से मना किया गया था। इसे लेकर सुनीता, निर्मला पत्नी सुखराम डामर व वरदीबाई पत्नी रामचंद्र डामर ने रंभाबाई के घर के सामने जाकर विवाद कर रंभाबाई के साथ लात-घुसों से मारपीट की थी। साथ ही आगे से कुएं में कचरा फेंकने से मना करने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी। इसके बाद रंभाबाई ने जहर पीकर जान दे दी थी।

जांच के बाद पुलिस ने 5 नवंबर को अारोपित सुनीता, निर्मला व वरदीबाई के खिलाफ भादंवि की धारा

306, 323, 294, 506, 34 में प्रकरण दर्ज किया था प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपित महिलाओं  के घर उनकी तलाश की गई, वे नहीं मिली।  आरोपित महिलाएं फरार हैं

Post a Comment

0 Comments