सादगी से हुआ परम्परा निर्वहन, कोविड गाइडलाइन के पालन को प्राथमिकता दी गई | Sadgi se hua parampara nirvahan

सादगी से हुआ परम्परा निर्वहन, कोविड  गाइडलाइन के  पालन  को प्राथमिकता  दी  गई

सादगी से हुआ परम्परा निर्वहन, कोविड  गाइडलाइन के  पालन  को प्राथमिकता  दी  गई

उज्जैन (रोशन पंकज) - वर्ष में एक बार दशहरे पर , शमी वृक्ष पूजन हेतु बाबा श्री महाकाल  की सवारी नगर भ्रमण कर दशहरा मैदान पहुंचती है. आज बाबा की सवारी में सुरक्षा का ध्यान, कोविड  गाइडलाइंस का  अनुपालन कर परंपरा का सादगी से निर्वहन किया गया.

सादगी से हुआ परम्परा निर्वहन, कोविड  गाइडलाइन के  पालन  को प्राथमिकता  दी  गई

        दशहरा मैदान पर कलेक्टर श्री आशीष सिंह  व एस पी श्री शुक्ला  ने पूजन किया. पुजारी प्रदीप गुरुजी,  पुजारी आशीष गुरुजी.  इस  अवसर  पर  पुजारी महेश गुरुजी भी उपस्थित थे.  कोविड नियमो के अनुपालन अंतर्गत न्यूनतम संख्या, भौतिक दूरी रखते हुए पूरे मार्ग पर श्रद्धालुओं ने श्री महाकाल  के दूर से दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया. प्रशासनिक व्यवस्था  के  लिए   एडीएम  श्री नरेंद्र सूर्यवंशी,  अतिरिक्त एस पी श्री अमरेंद्र सिंह पूरे मार्ग में अमले के साथ पैदल चले. मन्दिर अधिकारीगण श्री जूनवाल, श्री प्रतीक द्विवेदी, आर के तिवारी,  प्रभारी गण, श्री मिलिंद वैद्य, श्री रवि देवघर, श्री मनीष पांचाल, श्री महेंद्र काकड़े, श्री उमेश दीक्षित आदि ने व्यवस्थाएँ सम्हाली.

मंदिर में मां अवन्तिका मंदिर में हुई पूर्ण आहुति व यज्ञ हवन

------------------ ------ -----------

सभामण्डप स्थित मंदिर के पुजारी श्री लोकेन्द्र व्यास ने बताया कि आज नौ दिन से चल रहे   नव चंडी पाठ की पूर्ण आहुति  यज्ञ हवन के साथ हुई. अन्य पुजारी गण अधिकारी आदि पूजन में उपस्थित थे.

  **आर के तिवारी, सहा. प्रशा.अधिकारी, श्री महाकालेश्वर मंदिर, उज्जैन.

Post a Comment

0 Comments