इस वर्ष रबी सीजन में 29 हजार 18 हेक्टेयर में सिंचाई होगी | Is varsh rabi season main 29 hazar hector main sichai hogi

इस वर्ष रबी सीजन में 29 हजार 18 हेक्टेयर में सिंचाई होगी

गत वर्ष की तुलना में 5700 हेक्टेयर अधिक क्षेत्र में होगी सिंचाई

जिले के सभी जलाशयों की जलग्रहण क्षमता 156.15 घनमीटर हुई

कलेक्टर ने जल उपयोगिता समिति की बैठक ली

इस वर्ष रबी सीजन में 29 हजार 18 हेक्टेयर में सिंचाई होगी

उज्जैन (रोशन पंकज) - कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में आज जिला स्तरीय जल उपयोगिता समिति की बैठक ली। बैठक में निम्नानुसार निर्णय लिये गये :-


इस वर्ष रबी सीजन में 29 हजार 18 हेक्टेयर में सिंचाई होगी, गत वर्ष की तुलना में 5700 हेक्टेयर अधिक क्षेत्र में सिंचाई होगी। विगत वर्ष जिले में कुल 24251 हेक्टेयर क्षेत्र में रबी की फसल ली गई थी।


नवम्बर माह के प्रथम सप्ताह में नहरों का संचालन करने के निर्देश दिये गये। इसके पूर्व रख-रखाव आदि का कार्य पूर्ण करने को कहा गया है। सिंचाई अवधि में टेलएंड के किसानों का ध्यान रखने के निर्देश दिये गये हैं।


बैठक में जानकारी दी गई कि उज्जैन जिले में दो मध्यम परियोजनाएं, 52 लघु तालाब और 39 लघु बैराज व स्टापडेम हैं, जिनकी रूपांकित रबी सिंचाई क्षमता 29018 हेक्टेयर है।


इस वर्ष जिले में औसत वर्षा 1113.40 मिमी अर्थात 43.75 इंच हुई तथा समस्त जलाशयों और बैराजों की कुल जलग्रहण क्षमता 167.47 मि.घन मीटर के विरूद्ध 156.15 मि.घन मीटर जल संग्रहित हुआ है।


पेयजल हेतु जिले के अरनिया बहादुरपुर तालाब से 0.40 मि.घ.मी. जल जनपद पंचायत झारड़ा के लिये और साहिबखेड़ी जलाशय से 1.70 मि.घ.मी. जल पेयजल एवं उद्योग हेतु, उंडासा तालाब से 0.85 मि.घ.मी. जल पेयजल हेतु एवं पाडलिया (नागदा) तालाब से 1.70 मि.घ.मी. जल पेयजल हेतु आरक्षित रखने का प्रावधान है। इसके विरूद्ध साहिबखेड़ी जलाशय से 1.70 मि.घ.मी. एवं उंडासा तालाब से 0.85 मि.घ.मी. जल पेयजल हेतु आरक्षित करने के निर्देश दिये गये। साथ ही घट्टिया तालाब के पानी का पेयजल हेतु आरक्षण करने के लिये सम्बन्धित एसडीएम को परीक्षण करने के लिये कहा गया है।


बैठक में एसडीएम महिदपुर श्री केसी ठाकुर, एसडीएम खाचरौद श्री पुरूषोत्तम कुमार, एसडीओ घट्टिया श्री गोविन्द दुबे, सीएमओ महिदपुर श्री दीपक माहोर, सीएमओ नागदा मो.अशफाक, जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री कमल कुवाल सहित जल संसाधन विभाग के सभी अधिकारी मौजूद थे

Post a Comment

0 Comments