जब कोरोना हुआ था, तो लगा था अब नहीं जी सकूंगी| Jab corona hua tha to laga tha ab nhi ji sakungi

जब कोरोना हुआ था, तो लगा था अब नहीं जी सकूंगी

लेकिन चिकित्सालय में मिले उपचार से आज ठीक होकर जा रही हूं

शासकीय माधव नगर चिकित्सालय से 7 लोग ठीक होकर घर गये

जब कोरोना हुआ था, तो लगा था अब नहीं जी सकूंगी

उज्जैन (रोशन पंकज) - मंगलवार को डेडिकेटेड कोविड-19 केयर सेन्टर शासकीय माधव नगर चिकित्सालय से सात लोग कोरोना संक्रमण से पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने-अपने घर को गये। अपने घर जा रही एक महिला ने कहा कि जब उन्हें पता चला था कि वे कोरोना से संक्रमित हो गई हैं तो वे अत्यन्त घबरा गई थी। इसके बाद उन्हें उपचार के लिये शासकीय माधव नगर चिकित्सालय में भर्ती किया गया। उन्होंने बताया कि यहां मिले बेहतरीन उपचार और डॉक्टरों तथा चिकित्सा स्टाफ के सहयोग और प्रेरणा से वे आज पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर घर जा रही हैं। इसके लिये महिला ने समस्त चिकित्सकों और स्टाफ नर्स का हृदय से आभार व्यक्त किया। अस्पताल से डिस्चार्ज होते समय सभी लोगों की आंखों में खुशी के आंसू थे।


चिकित्सकों और मेडिकल स्टाफ द्वारा अपने घर जा रहे लोगों के ऊपर फूलों की वर्षा कर उन्हें अच्छे स्वास्थ्य की शुभकामनाएं दी। सीएमएचओ डॉ.महावीर खंडेलवाल ने लोगों को हिदायत दी कि वे 14 दिनों के लिये होम क्वारेंटाईन में रहें। साथ ही जब भी बाहर निकलें तब अनिवार्यत: मास्क पहनें, बार-बार हाथ धोयें, नियमित योगा और व्यायाम करें, पौष्टिक भोजन का सेवन करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और कोरोना के लक्षण दोबारा होने पर स्वयं चिकित्सालय पहुंचकर जांच करायें तथा अपने आसपास के लोगों एवं रिश्तेदारों के माध्यम से कोरोना महामारी से बचाव हेतु बरती जाने वाले सावधानियों का अधिक से अधिक प्रचार करें। लोगों को यह समझायें कि यदि कोरोना हो भी जाये तो घबराने की आवश्यकता नहीं है, उचित उपचार एवं सावधानियों का ध्यान रखकर इस बीमारी से विजय प्राप्त की जा सकती है।

आखिर में सभी डॉक्टर्स ने तालियां बजाकर लोगों की हौसला अफज़ाई की और उन्हें आने वाले दिनों में कुछ सावधानियां बरतने के लिये कहा। सभी लोगों ने जिला चिकित्सालय के डॉक्टर्स, नर्सेस और सफाई कर्मचारियों का धन्यवाद दिया। इस दौरान डॉ.एचपी सोनानिया, डॉ.भोजराज शर्मा, आरएमओ डॉ.मनोज शाक्य, डॉ.अखंड, डॉ.कुमरावत, आईटी के नोडल डॉ.रौनक एवं मीडिया प्रभारी श्री दिलीपसिंह सिरोहिया मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments