दशहरा पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया | Dashahara parv harshollas ke sath manaya

दशहरा पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया


देपालपुर (दीपक सेन) - देपालपुर के अंचल में दशहरा पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सार्वजनिक दशहरा उत्सव समिति बेटमा द्वारा घुड़दौड़, निशानेबाजी प्रतियोगिता आयोजित कर अंत में रंगीन आतिशबाजी के साथ 51 फुट ऊंचे रावण का दहन किया गया। कार्यक्रम में खेल एवं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, विधायक विशाल पटेल, योगेश माहेश्वरी, चंदरसिंह दरबार, असलम शेख, मलिक खान, संजय जैन, अब्दुल कलाम, शिखर जैन, हरीश खंडेलवाल, गोपाल खंडेलवाल, गोपाल यादव आदि अतिथि थे।

समिति द्वारा अतिथि स्वागत साफा बांध कर किया गया। दोपहर 3 बजे पुरा बाजार से गाजे-बाजे के साथ चल समारोह निकला जो नगर भ्रमण के बाद अमन चमन टेकरी दशहरा मैदान पहुंचा। जुलूस के दौरान अतिथि, प्रतियोगी घोड़ों पर सवार थे, जुलूस का अनेक जगहों पर स्वागत किया गया। जुलूस समापन के बाद 3 चक्रों में घुड़दौड़ प्रतियोगिता संपन्ना हुई। स्पर्धा के दौरान 300 मीटर दूरी की दौड़ होती है, जिसमें घुड़सवार को 150 मीटर खड़ी चढ़ाई चढ़ना पड़ती है। सबसे पहले बड़े घोड़े, उसके बाद छोटे घोड़े व अंत में ग्रामीण क्षेत्रों के घोड़ों की स्पर्धा हुई। बड़े घो़ड़ों की दौड़ में प्रथम मुरली पटेल, बिजेपुर, द्वितीय रवि बारोड़, बिजेपुर, तृतीय शेखर पटेल, बेटमा, छोटे घोड़ों की दौड़ में प्रथम गोकुल पंवार सनावद, द्वितीय विष्णु तँवर बिजेपूर, तृतीय गोलू बेटमा, ग्रामीण क्षेत्र के घोड़ों की दौड़ में प्रथम लाखन पटेल अहिरखेड़ी, द्वितीय नितिन यादव झलारिया, तृतीय विष्णु तंवर बिजेपुर रहे।

घुड़दौड़ के बाद निशानेबाजी प्रतियोगिता हुई। स्पर्धा के दौरान चयनित 13 निशानेबाजों ने 200 मीटर दूरी पर रखी मटकी पर निशाना लगाया। इस दौरान करीब 70 फायर किए गए। जगह बदलने के बाद निशाना लगा और महावीरसिंह चौहान ने मटकी फोड़ दी। दूसरी मटकी भी महावीरसिंह चौहान ने फोड़ दी।

प्रतियोगिता के बाद आतिशबाजी की गई, इसके बाद 51 फुट ऊंचे रावण का दहन किया गया। तत्पश्चात समिति द्वारा घुड़दौड़ व निशानेबाजी विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। संचालन सचिन सोनी ने किया। आभार संयोजक लोकेन्द्रसिंह दरबार ने माना।

Post a Comment

0 Comments