डेब में हुए अंधे कत्ल का पुलिस ने किया पर्दाफाश

डेब में हुए अंधे कत्ल का पुलिस ने किया पर्दाफाश

डेब में हुए अंधे कत्ल का पुलिस ने किया पर्दाफाश

अंजड (शकील मंसूरी) - अंजड थाना क्षेत्र के ग्राम पिपल्याडेब में दिनांक 22 जून की रात्रि 9 से 10 के दरमियान दिनेश पिता मायटा मानकर उम्र 45 वर्ष निवासी पिपल्याडेब की अज्ञात हमलावर ने सिर पर एक भारी पत्थर मारकर हत्या कर दी थी व मृतक की लाश को छोटी पुलिया के नीचे फेंक दिया था। पुलिया के नीचे लाश मिलने पर क्षेत्र में हड़कम्प मच गया था व अंजड पुलिस व एसएफएल टीम ने मौके पर पहुच कर साक्ष्य जुटाए व घटना के दो दिन बाद पुलिस अधीक्षक ने भी घटना स्थल का दौरा किया था। मृतक के बेटे जगदीश पिता दिनेश ने अंजड थाने पर जिसकीं रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, तभी से अंजड पुलिस आरोपी की तलाश कर रही थी।

जिला पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश पर टीआई गिरीश कुमार कवरेती के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया था टीम द्वारा सायबर सेल की मदद एवं सीसी टीवी फुटेज एवं मृतक के परिजनों, रिश्तेदारों एवं आस-पास के लोगो से पूछताछ के बाद आरोपी नकल्या पिता झंझाड उम्र 52 साल निवासी पिपल्याडेब जो कि मृतक का रिश्ते में फूफाजी लगता है को गिरफ्तार किया गया। 

गिरफ्तार करने के बाद आरोपी ने कबूल किया कि घटना के कुछ दिन पूर्व दोनो शराब पीकर आपस मे गाली गलौज की थी व इन दोनों के बीच मे पूर्व से आपसी रंजिश भी बनी हुई थी।
घटना को अंजाम देने के बाद में एक बार पूर्व भी अंजड पुलिस द्वारा आरोपी से कड़ी पूछताछ की जा चुकी थी।
आरोपी ने हत्या का कारण पूर्व की आपसी रंजीश होना बताया।

आरोपी को गिरफ्तार कर भादवी की धारा 302 के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी न्यायालय में पेश किया गया।
उक्त अंधे कत्ल का खुलासा एसडीओपी ए एस जमरा ने किया।

कत्ल का खुलासा करने में अंजड पुलिस की टीम में शामिल काशीराम भालसे, जगदीश कलमे, गजेंद्र ठाकुर, केलाश चौहान, बलवंत सिंह बिसेन, आरक्षक राकेश, सैनिक संजय सहित सायबर सेल टीम आरक्षक अरुण व योगेश का सराहनीय सहयोग रहा।

Post a Comment

0 Comments