महूनाका से गंगवाल बस स्टैंड रोड पर अंधेरे का साम्राज्य, ड्रेनेज के चैंबरों के धंसे पैवर ब्लॉक से हो सकते हैं एक्सीडेंट accident Aajtak24 News

 

महूनाका से गंगवाल बस स्टैंड रोड पर अंधेरे का साम्राज्य, ड्रेनेज के चैंबरों के धंसे पैवर ब्लॉक से हो सकते हैं एक्सीडेंट accident Aajtak24 News 

इंदौर - बारिश का मौसम शुरू हो चुका है। इंद्र देवता ने मेहरबानी भी शहर पर बना रखी है। हालांकि इंद्र देवता की मेहरबानी के बाद भी नगर निगम और बिजली कंपनी अधिकारी जनता को कष्ट दे रहे हैं। बात की जा रही है महूनाका से गंगवाल बस स्टैंड तक की रोड की जिस पर इन दिनों भीषण अंधेरा पसरा हुआ है। करीब 1 किलोमीटर के इस हिस्से में वैसे तो स्ट्रीट लाइट के पर्याप्त संख्या में बिजली के पोल लगे हैं, लेकिन इन पोलों पर लगी स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हुई है। हाल ही में इसी रोड पर ड्रेनेज के लिए जगह-जगह चैंबर भी बनाए गए हैं। इन चैंबरों के जगह पर नगर निगम ने पैवर ब्लॉक लगा दिए हैं जो अब बारिश में धंस चुके हैं। सड़क पर अंधेरा होने के कारण यह गड्ढे दिखाई नहीं दे रहे हैं। जो अंधेरे के कारण बड़े हादसे का कारण बन सकते हैं। हालांकि जब यह पैवर ब्लॉक लगाए गए थे, तभी इनसे एक्सीडेंट हो चुके हैं। महूनाका से गंगवाल बस स्टैंड तक का हिस्सा इन दिनों नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही का शिकार बना हुआ है। ऐसा नहीं है कि सड़क पर पसरे अंधेरे की जानकारी निगम अधिकारियों को नहीं होगी, लेकिन इसके बाद भी मेंटेनेंस एजेंसी पर नियंत्रण नहीं होने के चलते सड़क पर लगी स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है। वाहन चालकों को और राहगीरों को रात के समय यहां सावधानी से गुजरना पड़ रहा है। बारिश का मौसम होने के कारण वाहन चालकों को दोगुनी सावधानी बरतना पड़ रही है। इसके बाद एमओजी लाइन के तरफ नगर निगम द्वारा ड्रेनेज लाइन डाली गई है। ये ड्रेनेज लाइनों को जोड़ने के लिए जगह-जगह चैंबर भी बनाए गए हैं। इन चैंबरों में मिट्टी रिफिलिंग कर ऊपर पैवर ब्लॉक लगा दिए गए हैं। यह पैवर ब्लॉक बारिश के कारण धंस चुके हैं और जगह-जगह इन चैंबरों के ऊपर लगे पैवर ब्लॉक में गड्ढे बन चुके हैं। स्ट्रीट लाइट बंद होने के कारण यह गड्ढेनुमा स्थान दूर से दिखाई नहीं देते हैं और वाहन चालकों के लिए खतरे का कारण बन सकते हैं। हालांकि एक दो बार तो यहां कर से एक्सीडेंट हो भी चुका है लेकिन कर होने के कारण सिर्फ वहां को ही नुकसान पहुंचा किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।

पूर्व में भी हो चुके हैं एक्सीडेंट, वाहन चालक हुए हैं अस्पताल में भर्ती 

हालांकि इस समय यह पैवर ब्लॉक लगाए गए उसी समय ये  धंस चुके थे। इस कारण वहां पूर्व में ही एक्सीडेंट भी हो चुके हैं। बाइक चालकों को एक्सीडेंट में चोट भी लगी है। लोगों ने बताया कि बाइक सवार दो लोगों को तो अस्पताल में भर्ती भी होना पड़ा है। मीडिया ने इस समय खबरें भी प्रकाशित की थी इसके बाद भी किसी प्रकार का कोई सुधार कार्य नहीं किया गया। अब बारिश में यह फेवर ब्लॉक के चैंबर पर बने गड्ढे गंभीर हादसों का कारण बन सकते हैं। 

बिजली कंपनी का झोन भी इसी रोड पर फिर भी नहीं ध्यान 

पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी का राज मोहल्ला झोनल कार्यालय इसी रोड पर स्थित है। इसके बाद भी नगर निगम तो दूर बिजली कंपनी अधिकारियों द्वारा ही स्ट्रीट लाइट चालू करने को लेकर निगम अधिकारियों के मामला संज्ञान में नहीं लाया गया है।



Comments

Popular posts from this blog

पंचायत सचिवों को मिलने जा रही है बड़ी सौगात, चंद दिनों का और इंतजार intjar Aajtak24 News