अगर जल का संरक्षण करें तो जीवन ही बना रहेगा: प्रोफ़ेसर इकबाल | Agar jal ka sanrakshan kre to jivan hi bana rahega

अगर जल का संरक्षण करें तो जीवन ही बना रहेगा: प्रोफ़ेसर इकबाल

अगर जल का संरक्षण करें तो जीवन ही बना रहेगा: प्रोफ़ेसर इकबाल

भिण्ड (मधुर कटारे) - 22 मार्च जल दिवस के अवसर पर सोमवार को एक निजी कोचिंग संस्थान में हम फाउंडेशन मध्य भारत प्रांत की भिंड शाखा द्वारा एक गोष्ठी का आयोजन किया गया इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में प्रोफ़ेसर इकबाल अली रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता नेहरू युवा केंद्र के तहसील समन्वयक हरे कृष्ण शर्मा ने की।

इस अवसर पर जल दिवस के बारे में विचार व्यक्त करते हुए प्रोफ़ेसर इकबाल अली ने बताया कि पानी हमारे लिए एक ऐसी धरोहर है जिसे आने वाली पीढ़ी के लिए संभाल कर रखना बहुत जरूरी है पानी के बिना जीवन संभव नहीं है। इसी क्रम में नेहरू युवा केंद्र के तहसील समन्वयक हरे कृष्ण शर्मा ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि लोग पानी के महत्व को समझना छोड़ चुके हैं पानी की जरूरत को समझाने के उद्देश्य ही विश्व जल दिवस को मनाने की प्रथा शुरू हुई है। कार्यक्रम का संचालन कर रहे शाखा सचिव शैलेश सक्सेना और शाखा अध्यक्ष नितिन दिक्षित हम फाउंडेशन के 5 सूत्र  सहाचर्य, सहयोग, सेवा, संस्कार और संस्कृति के नाम  अंकित किए हुए बड़े सकोरे पक्षियों हेतु छात्रों को भेंट किए गए।  अंत में जल शपथ प्रोफेसर इकबाल अली, संचालन शैलेश सक्सेना और आभार  नितिन दिक्षित ने किया। कार्यक्रम में  छात्र उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments