बालक की बलि का प्रयास परिजन से मिले विधायक सुशील तिवारी | Balak ki bali ka prayas parijan se mile vidhayak shushil tivari

बालक की बलि का प्रयास परिजन से मिले विधायक सुशील तिवारी 

बरेला का मामला पुलिस की चार टीमें जांच में जुटी

बालक की बलि का प्रयास परिजन से मिले विधायक सुशील तिवारी

जबलपुर (संतोष जैन) - बरेला थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक बालक की बलि देने के प्रयास का मामला सामने आया है 13 वर्षीय बालक को साइकिल सवार एक व्यक्ति सूनी पहाड़ी पर ले गया था हालांकि नरबलि से पहले बालक गुनिया के चंगुल से बचकर आ गया यह घटना करीब 4 दिन पुरानी है इसकी भनक स्थानीय विधायक सुशील तिवारी को लगने पर वे बुधवार को परिवार से मिले तब प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी पहुंचे जांच के लिए पुलिस की चार टीमें बनाई गई है पुलिस के अनुसार परिवार के पास करोरा गांव में बालक अपनी दादी के साथ खेत में बने घर में रहता है वहां 17 अक्टूबर को सुबह एक युवक साइकिल से आया उसने झाड़-फूंक करने का दावा किया और दादी को विश्वास में ले लिया उसने खेत में बने घर में पूजन करने के बाद बालक को अपने साथ ले गया उसने बताया कि वह अगले गांव में जा रहा है उसके बाद काफी देर तक बालक लौट कर नहीं आया तो उसे ढूंढा  गया पता नहीं चलने पर दोपहर थाने में जानकारी दी इसी बीच बालक वापस आ गया


 फोन पर कर रहे थे नरबलि  की बात


 घर लौटकर बालक ने बताया कि साइकिल से आया गुनिया उसे लेकर गांव से बाहर पहाड़ी पर गया वहां तीन लोग खड़े थे वे फोन पर किसी से नरवली देने के संबंध में बात कर रहे थे यह सुनकर वह घबरा गया मौका पाकर भागने की कोशिश की तो कुछ दूर जाकर गिर गया पीछा कर रहे चारों लोगों ने उसे पकड़ लिया फिर पहाड़ी पर ले गए तभी एक व्यक्ति के पास किसी का फोन आया उसके बाद साइकिल से आया व्यक्ति गांव के पास छोड़ कर भाग गया पुलिस मामले की जांच कर रही है एक दो लोगों से पूछताछ की गई है 


 एक की पहचान हुई


 पुलिस ने बालक के दावों के आधार पर पहाड़ी की जांच कराई वहां नरबलि को लेकर कोई सुराग नहीं मिला बालक ने जिन चार व्यक्तियों के पहाड़ी पर होने पर दावा किया है उनमें से एक संदेही की पहचान कर ली गई है वह मंडला जिले की बीजाडांडी क्षेत्र का निवासी है पुलिस के पहुंचने पर वह घर से गायब था उसके झाड़-फूंक और गुनिया जैसी हरकतों में शामिल होने की जानकारी मिली है

Post a Comment

0 Comments